Home

  • Samsung Galaxy 20 note और सैमसंग गैलेक्सी 20 अल्टा 5G कि यह है कीमत।

    Samsung Galaxy 20 note के 256 जीबी स्टोरेज 4g वाले फोन की कीमत भारत में करीब 78000 के राउंड है |। लेकिन सैमसंग गैलेक्सी नोट की कीमत भारत में लगभग 104999 के तक है । और इसमें 256gb का स्टोरेज मिलता है ।

    • भारत मैं Samsung Galaxy 20 note Ultra 5G लगभग 104999 में बेचा जाएगा।
    • फोन की प्री बुकिंग में कस्टमर ओं को बहुत सारे फायदे मिलेंगे।
    Samsung Galaxy 20 note Ultra 5G का भारत में प्राइस का खुलासा हो चुका है यह लगभग 104999 में बेचा जाएगा। जैसा कि हम सब जानते हैं कि कोई भी फोन के प्रिय बुकिंग या ऑनलाइन होती है।या कंपनी के द्वारा बनाए गए रिटेलर ऑफलाइन द्वारा कराए जा सकता है और सैमसंग नोट अल्ट्रा 5G मैं भी यही हो रहा है कस्टमर को प्री बुकिंग पर बहुत सारे फायदे मिल रहे हैं आइए जानते हैं क्या है बहुत सारे फायदे।

    • Samsung Galaxy 20 note की बुकिंग पर आप 6000 तक का कैशबैक प्राप्त कर सकते हैं।
    • सैमसंग गैलेक्सी नोट 20 अल्ट्रा 5G की बुकिंग पर आप 9000 का कैशबैक प्राप्त कर सकते हैं।
    • अगर आपके पास कोई सैमसंग का गैलरी एंड्रॉयड फोन है तो उसमें भी आप एक्सचेंज में 5000 का एक्सीडेंट बोनस प्राप्त कर सकते हैं।
    Samsung Galaxy 20 note

    • डिस्प्ले। 6.70 ENCH
    • प्रोसेसरसैमसंग एक्सिनोस 990
    • फ्रंट कैमरा। 10-मेगापिक्सल
    • रियर कैमरा। 12 + 64+ 12 मेगापिक्सल
    • रैम 8 जीबी
    • स्टोरेज। 256 जीबी
    • बैटरी 4300 MH
    • ओएस. Android
    • रिज़ॉल्यूशन. 1080

    Samsung Galaxy 20 note Ultra 5G

    • डिस्प्ले. 6.90 इंच
    • प्रोसेसर. क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 865+
    • फ्रंट कैमरा. 10-मेगापिक्सल
    • रियर कैमरा. 108+ 12 + 12-मेगापिक्सल
    • रैम. 12 जीबी
    • स्टोरेज. 128 जीबी
    • बैटरी 4500 MH
    • ओएस. Android
    • रिज़ॉल्यूशन. 1440

    अगर आप किसी खरीदना चाहते हैं तो डायरेक्टली amazon.in पर जाकर प्रीऑर्डर कर सकते हैं।

  • भारत में बनी कोरोना वैक्सीन का ट्रायल शुरू।

    • कोरोना वैक्सीन भारत में कोरोना वायरस बहुत तेजी से फैल रहा है लगभग भारत में 11 लाख के आसपास केसेस हो चुके हैं और इसको लेकर पहली कोरोना वैक्सीन का इंसानों पर ट्राई कर शुरू हो चुका है भारत के 14 बड़े अस्पतालों में पहले चरण का ट्राई शुरू हो चुका है लेकिन अभी दवा को आने में लगभग 1 महीना या 2 महीना लग सकता है पहले यह आज लगाया जा रहा था कि 15 अगस्त तक मार्केट में कोरोना वायरस की दवा आ जाएगी लेकिन अभी इसमें टाइम लग सकता है।

    • भारत में कोरोना वायरस की वैक्सीन का ह्यूमन ट्रायल 15 जुलाई से शुरू हो चुका है पहले चरण में देश के 14 बड़े अस्पतालों में लगभग 3:30 सौ लोगों पर इसका ट्रायल शुरू हो चुका है भारत बायोटेक की व्यक्ति ने ह्यूमन फ्रेंड की प्रक्रिया शुरू की गई है और यह ट्रायल लगभग 2 भाग में किया जाएगा एक व्यक्ति संक्रमित लोगों को दी जाएगी और एक सामान्य व्यक्ति को दी जाएगी। और एक बिल्कुल सामान्य इलाज के लिए इस्तेमाल की जाएगी ।

    • 15 अगस्त तक मार्केट में वैक्सिंग के आने पर स्वदेशी निर्मित वैक्सिंग का निमंत्रण 15 जुलाई से शुरू हो चुका है लेकिन अभी इस ट्रायल को लगभग 90 दिन से अधिक लग सकते हैं ऐसे में अगर जुलाई से ट्रायल शुरू किया गया है दो-तीन महीने बाद ही दवा का आखिरी रूप में आना उचित होगा । अगर सीधे शब्दों में समझा जाए तो vaccine को अभी पहले और दूसरे चरण को कंप्लीट या पूरा करने में अभी 90 दिन का टाइम लगेगा।

    • भारत के 14 बड़े अस्पतालों में ट्रायल शुरू।।
    • भारत में बने कुर्ला की वैक्सीन का ट्रायल देश के 14 बड़े अस्पतालों में शुरू किया गया है इसमें दिल्ली का एम्स अस्पताल समेत बेंगलुरु चेन्नई कानपुर पटना गोवा भुवनेश्वर के तमाम बड़े अस्पताल शामिल किए गए हैं जिनमें कोरोना की वैक्सीन के ट्रायल की प्रक्रिया शुरू की गई है इसमें लगभग जो 50 से 375 लोगों पर ट्रायल किया जा रहा है।
    • वैक्सीन के क्या प्रभाव लोगों पर दिख रहे हैं।
    • जिन बड़े अस्पतालों में कोरोना वैक्सीन का ट्रायल किया जा रहा है वहां पर जिन लोगों को लोगों पर लगाया गया है उनके हाथों में दर्द सूजन और सुनने के लक्षण तो नहीं है वही सिर दर्द चक्कर उल्टी आना अन्य सहित कई बिंदुओं पर डॉक्टर गौर कर रहे है । कोरोना लक्षण से तो मिलते जुलते नहीं है कोई साइड इफेक्ट ना दिखे दिखने पर तीन वॉरियर्स तीन लोगों को घर भेज दिया गया है इसकी पहली शुरुआत बिहार के पटना जहर से हुई है देश में सबसे पहले व्यक्ति का डोज यहां के एक युवक को दिया गया है।

    Youtube channel

    CSC लाखों 20 लाख से अधिक नौकरी

  • CSC मैं 20 लाख से अधिक लोगों की भर्ती।

    Common service centre ( CSC) मैं इस साल 20 लाख लोगों से से भी ज्यादा भर्ती हो सकती है। CSC में बड़े पैमाने पर भर्ती की जा रही है इनमें युवाओं को सरकारी योजनाओं को आगे बढ़ाने के लिए मदद के लिए भर्ती की जाएगी । CSC के CEO दिनेश त्यागी के मुताबिक देशभर में CSC की संख्या लगभग चार लाख हैं यह केंद्र छोटे या बड़े शहरों में हैं ग्रामीण इलाकों में कई सरकारी और दूसरी सेवाओं देने में लोगों की महत्वपूर्ण योजनाएं महत्वपूर्ण कड़ी हैं । और सीएससी जब से मोदी गवर्नमेंट ने CSC को डिजिटल इंडिया कैंपेन के तहत प्रमोट किया तब से CSC के अंदर बहुत सारे बदलाव आते जा रहे हैं अब ऐसी में लगभग 20 लाख लोगों से भी ज्यादा भर्ती की जाएगी इसके अलावा ग्रामीण ईस्टोर और किसान के लिए डिजिटल एजेंट के रूप में काम करेंगे ऐसी को सरकार के लिए मदद करेंगे । इन पदों के लिए क्रेडिट के पंजीकरण का काम महीने या 1 महीने के अंदर पूर्ण होने की उम्मीद है। उनके काम के आधार पर सरकार की योजनाओं की जानकारी दी इसके अलावा और डिलीवरी करेंगे ।

    CSC क्या है।
    सी ऐसी भारत सरकार का एक अभिन्न अंग है सरकार ने राष्ट्रीय एवं ई गवर्नेंस पॉलिसी के तहत सूचना और योजनाओं की जानकारी देश के विभिन्न लोगों तक पहुंचाने के लिए सीएससी की शुरुआत की थी इस सेंटर से सरकार नागरिकों को किसान स्वास्थ्य शिक्षा मनोरंजन बैंकिंग वित्तीय सेवा या अन्य छोटे छोटे सर्विस प्रोवाइड करती है जिसमें मनी ट्रांसफर जैसे एक महत्वपूर्ण काम बीपीएससी द्वारा किया जाता है किसी का मुख्य उद्देश्य लोगों को समय पर कम लागत में ई गवर्नेंस सर्विस देना होता है कि जो भी गवर्नमेंट ऑफिस के काम होते जैसे ई डिस्ट्रिक्ट के अंदर आता अपने डिस्ट्रिक्ट की छोटी-छोटी काम जैसे जाति प्रमाण पत्र आय प्रमाण पत्र मैरिज सर्टिफिकेट से प्रोवाइड करता है।

    Youtube channel

  • जरूरत से कम पैदावार होने के कारण कीड़ा जड़ी को रेट लिस्ट में शामिल कर दिया गया है

    कामोत्तेजक ग्रुणो के पहचान करने में सहायता करने वाले हिमालयन वियाग्रा लाल किताब में शामिल कर लिया गया है यह इसलिए किया गया है कि पिछले 15 सालों में इसकी उपज में कम से कम 25 से 30% की कमी आई है


     हिमालयन वियाग्रा
    IUCN की रेट लिस्ट में शामिल हुआ देसी हिमालयन  कीड़ा जड़ी
     कीड़ा जड़ी के तौर पर पहचाने जाने वाले दुनिया के सबसे मूल्यवान IUCN  ने अपनी रेट लिस्ट में शामिल कर लिया गया है। कम से कम ₹2000000 प्रति किलो की दर से बिकने वाला कीड़ा जड़ी जरूरत से अधिक पैदावार की वजह से रेट लिस्ट में शामिल किया गया है यह इसलिए किया गया है कि क्योंकि पिछले 10 या 15 सालों में इसकी पैदावार में कम से कम 25% से 30 %की कमी आई है
    उत्तराखंड में कीड़ा जड़ी का अधिक पैदावार होना यह अक्सर कीड़े की तरह दिखाई देने वाला एक जड़ी बूटी है और इसे उत्तराखंड में कीड़ा जड़ी के नाम से पहचाना जाता है हिमालय और तिब्बत के पहाड़ी इलाकों का या हिमालयन  वियाग्रा चीन भूटान नेपाल और भारत में पाए जाते हैं भारत में यह सबसे ज्यादा उत्तराखंड में पाया जाता है यहां पर भी पिथौरागढ़ और चमोली मे जिलों में इसकी उपज सबसे अधिक है। 


    अब इसकी संरक्षण की जरूरत है


    आईयूसीएन ने भारत के प्रतिनिधि विवेक सक्सेना ने हमारे सहयोगी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत  मैं बताया  बताया कि कीड़ा जड़ी को अब रेट लिस्ट में शामिल कर दिया गया है और भारत सरकार या स्टेट गवर्नमेंट को इसकी संरक्षण के लिए कोई पॉलिसी बनानी चाहिए। 
      कई ग्रामीणो  की आजीविका से जुड़ा हुआ हैजब से इसे रेट लिस्ट में शामिल किया गया है उत्तराखंड के उन ग्रामीणों को दिक्कत आ सकती है जो कि जिनके आजीविका का मुख्य साधन हुआ करता है अंतरराष्ट्रीय तौर पर से ₹10000 हजार  प्रति किलोग्राम की दर से बिकने वाला कीड़ा जड़ी की कीमत चीन सहित अंतरराष्ट्रीय बाजारों में कम से कम 20 लाख किलो से ऊपर है और कई लोग इसे अपनी आजीविका चलाते हैं अब उन लोगों को बहुत दिक्कत आ सकती है जो लोग अपनी आजीविका  केवल इसी से संबंधित करते है। और उनका घर इसी के कारण चलता था उत्तराखंड के पिथौरागढ़ और चमोली जिले में कुछ इलाकों में यह अधिकतर मात्रा में पाया जाता है और वहां के ग्रामीण लोगों का अभि जीविका का साधन बना हुआ है अब इन लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। 

  • If your searching made in India app Elements will be launched

    If you too were trying to find a Made in India social media app, then your search is over. Tomorrow, on July 5, the country’s first ‘Super Social Media App Elements (Elyments) goes to be launched. The special thing is that vice chairman M Venkaiah Naidu is close to launch this app. it’s claimed that it’s the primary social media app within the country. 500 million people in India use social media, but sadly, most of those social media platforms are dominated by foreign companies, which has intensified the talk about data privacy and data supremacy.

     In such a situation, there’s a debate about the Made in India app and other people are downloading domestic apps after banning Chinese apps. Elyments are prepared by quite one thousand IT professionals. Elyments is that the first social media super app made in India, although this app is already available on Google Play-Store and has been downloaded by quite one lakh people, but its official launching was on July 5, vice chairman of India M. Venkaiah Naidu will do.
     The Art of Living founder also will be Sri Sri Shankar at its launch. Celebrities like Swami Ramdev, Ayodhya Rami Reddy, Suresh Prabhu, RV Deshpande, Ashok P Hinduja, GM Rao, Sajjan Jindal also will be present within the launching of the app.
     the info of the users of the Elyments app will remain safe within the country and can not tend to any third party without the specific consent of the users. This app is out there in additional than eight Indian languages. additionally to social media feeds during this app, audio-video calling also will be available on Elements . 
    Ever since the Chinese have closed down in India, India has been busy making its own indigenous application. In the same area, India has prepared an application that will be launched very soon.

    Animlas hot video

    Home